क्रिकेट से सन्यास लेते ही इरफ़ान ने किया सचिन और कोहली का जमकर विरोध

हम काफी समय से देख रहे है कि क्रिकेट जगत में कुछ न कुछ बदलाव समय के साथ में आते ही रहते है और ये बदलाव भारत में करने का अधिकार सिर्फ और सिर्फ बीसीसीआई के पास में है. वो अपने नजरिये और सहूलियत के हिसाब से चीजे बदलती रहती है और अभी हाल ही में एक बड़ा बदलाव प्रस्तावित किया गया है जिसके तहत टेस्ट क्रिकेट मैच को 5 दिन से घटाकर के 4 दिन करने की बात की जा रही है.

अब सुनने में ये ठीक लगे या फिर न लगे लेकिन भारतीय क्रिकेट के दिग्गज इसका जमकर के विरोध कर रहे है. पहले तो कोहली ने कहा कि ये जैसा भी चल रहा है वैसे ही चलते रहने देना चाहिए इसमें अभी छेड़छाड़ की जरूरत नही है. सचिन ने भी ठीक वैसी ही बात कही और कहा कि आखिरी पांचवा दिन भी टेस्ट मैच में काफी मायने रखता है और ये स्पिनरों को अपना दिन आजमाने के लिए मौका देता है.

अगर इसे खत्म कर देंगे तो ये उनसे उनका अधिकार छीन लेने जैसा होगा. इसे कम नही किया जाना चाहिए. अब इरफ़ान पठान जब तक क्रिकेट वर्ल्ड में थे तब तक तो इस पर कुछ नही बोले लेकिन जैसे ही उन्होंने संन्यास लिया तो कुछ ही टाइम में बयान देते हुए क्रिकेट टेस्ट मैच को पांच दिन से घटाकर के चार दिन का करने का समर्थन कर दिया है और उन खिलाडियों के प्रति विरोध जताया है जो इसके खिलाफ हो गये थे.

खैर इरफ़ान की अपनी विचारधारा हो सकती है और वो अपने हिसाब से सोच भी सकते है लेकिन क्या ये बात जरूरी है कि वो ये विचार सिर्फ संन्यास के बाद ही रखे जब उन पर कोई कुछ बोल न सके ये भी अपने आप में सोचने वाली ही बात है बाकी तो समय के साथ में सब कुछ बदलता रहता ही है.

Facebook Comments