कसाब ने हिरासत में बतायी थी ये बाते, जो आपको कही और पढने को नही मिलेगी

जब भी मुंबई की ताज होटल का नाम आता है तो एक नाम हमेशा सामने आता है और वो नाम है कसाब जिससे शायद हर हिन्दुस्तानी नफरत करता है और हो भी क्यों न? एक अभी अभी जवान हुआ लड़का ऐसा दहशतगर्द बना कि उसने होटल में रह रहे मासूमो को अपना शिकार बना डाला और कही ना कही आज भी लोगो के जेहन में जब भी कसाब का नाम आता है तो वो नफरत से भर जाते है और जब आप वो बाते सुनेंगे जो कसाब ने जेल में बतायी थी तो उन्हें सुनकर के तो कही न कही आपको उस व्यक्ति से और भी नफरत आ जायेगी कसाब बताता है कि जब वो छोटा था तभी उसे कुछ साल पहले केम्प लाया गया था।

वहाँ पर उन्हें हिन्दुस्तान के बारे में काफी गलत गलत तरीके की बाते बतायी जाती थी जिसमे कहा जाता था कि हिन्दू जुल्म करने वाले होते है और वहाँ पर रहने वाले मुस्लिमो को वो न ढंग से रहने की आजादी देते है और न ही उन्हें नमाज पढने देते है। इसलिए उनकी मदद करना और हिन्दुओ को सबक सिखाना तुम्हारा फर्ज है इस तरह से ब्रेनवाश करके कसाब को हिन्दुस्तान में भेजा गया था।

और उसने यहाँ पर आकर के भी यही काम किया इसके बाद में कसाब ने ये भी दरख्वास्त की कि वो उसे ज़िंदा न रखे उसे जेल में ही खत्म कर दे क्योंकि वो अब जीवित रहना नही चाहता है कई बार कसाब रोता था कई बार चीखता था तो कई बार चिल्लाता था लेकिन आखिर में उसे कोर्ट ने सजा दी और जो उसका अंजाम था उस तक वो पहुँच भी गया लेकिन सवाल ये भी है कि पाक में न जाने कितने ही युवाओं का इसी तरह से ब्रेनवाश किया जाता रहा है और शायद आगे भी किया जाएगा जिससे कही ना कही आखिरी खतरा तो भारत को ही है इसलिए पड़ोस में जो हो सो हो लेकिन हमें अपने बॉर्डर और भी ज्यादा मजबूत कर लेने की जरूरत जरुर है।

हालांकि पिछले पांच वर्षो में इन चीजो पर काफी संजीदगी के साथ सरकार ने काम किया है जिसकी बदौलत अब ऐसे हमले होने ही बंद हो गये है और कही ना कही आर्मी और सरकार दोनों ही इसके बधाई के पात्र कहे जा सकते है इस बात में कोई भी शक नही है।

Facebook Comments