सचिन पायलट का खेल खत्म, कांग्रेस पार्टी ने लिया सचिन के खिलाफ बड़ा एक्शन

राजस्थान की राजनीति में बीते कुछ वक्त में सचिन पायलट और उनके साथियो ने जिस तरह से उथल पुथल मचाई वो कही न कही सब लोग बहुत ही अच्छे तरीके से जानते भी है कि पायलट ने लगभग तैयारी कांग्रेस सरकार को पलटने की कर ही ली थी लेकिन अचानक से फिर गहलोत ने अपना जादू दिखाना शुरू किया और वो सौ से भी ज्यादा विधायको को अपने सपोर्ट में ले आये जिससे सचिन पायलट का खेमा कमजोर सा पड गया.

अब गहलोत द्वारा बहुमत लायक विधायक जमा करने के बाद में हाई कमान ने सचिन पायलट के खिलाफ बहुत ही बड़ी कार्यवाही की है. सचिन पायलट को न सिर्फ उपमुख्यमंत्री के पद से हटाया गया बल्कि वो प्रदेश अध्यक्ष के पद से भी हाथ धो बैठे है. सचिन पायलट के करीबी विश्वेन्द्र सिंह और रमेश मीणा को भी पद से हटा दिया गया है जो अपने आप में के बहुत ही बड़ा और गंभीर फैसला माना जा रहा है.

अब कुल मिलाकर के सचिन पायलट अपना राजनीतिक वर्चस्व गँवा बैठे है और आगे उनके पास में कोई और रास्ता बचता ही नही है. क्या वो बीजेपी को ज्वाइन करते है या फिर उनका कोई और कुछ करने का इरादा है? बहुत सी बाते है जो अब तक क्लियर नही है और न ही पायलट अभी कुछ बोलने के लिए तैयार है.

ऐसे में ये बाजी तो गहलोत के द्वारा जीती हुई मानी जा रही है. इस घटना के बाद में अशोक गहलोत का एक वर्चस्व तो कायम हो ही गया है जिसको आगे से सचिन पायलट का उदाहरण देखते हुए कोई फिर से राजस्थान कांग्रेस में चेलेंज करने की कोशिश शायद ही करे. हालांकि सचिन पायलट ने अभी तक कुछ कहा नही है और क्या ये किसी तूफ़ान के आने से पहले की शान्ति है? ये तो आने वाला वक्त ही बतायेगा.

Facebook Comments