लाइसेंस बनवाने के लिये लाइन में खड़ा ये आदमी कोई मामूली व्यक्ति नही है, आपने पहचाना?

हमारे देश में वीआईपी कल्चर का खूब बोलबाला रहा है और इस वजह से आम जनता नेताओं से कुछ ज्यादा ही नाराज भी रहती है ये बात हम सभी लोग जानते है लेकिन ये नाराजगी भी भला कब तक रहती? जब नेताओं और मंत्रियो को समझ आने लगा कि भलाई जनता से अलग हटकर रहने में नही बल्कि उनके साथ में मिल जुलकर के रहने में है तो उन्होंने अब जनता के करीब आना शुरू कर दिया है और धीरे धीरे ये लाल फीताशाही खत्म हो रही है जिसके पीछे कही न कही सभी का मिला जुला हाथ होता है.

ऐसा ही कुछ हाल ही में लखनऊ के ट्रांसपोर्ट ऑफिस में भी देखने को मिला. ये बात अपने आप में अनोखी थी जब लोगो की लाइफ में एक दिख रहा व्यक्ति अलग ही चमक रहा था और सभी की नजरे उस पर लगी हुई थी. अब आप कहेंगे कि ये कौन है?

तो हम आपको बता दे ये और कोई नही बल्कि अशोक कटियार है. ये उत्तर प्रदेश के परिवहन मंत्री है और दफ्तर का जायजा लेने पहुंचे थे और क्योंकि उन्हें भी लाइसेंस न्यू बनवाना था वो भी नए फोर्मेट के हिसाब से तो उन्होंने वहाँ के अधिकारियों पर धौंस जमाकर अपना काम पहले करवाने की बजाय लाइन में खड़े होकर के शान्ति से काम करवाना चुना. वो लगभग दस से बीस मिनट तक लाइन में खड़े रहे जिसके बाद में उनका नम्बर आया और उन्होंने सारी कागजी कार्यवाई की और फिर वहाँ से अपना काम करके चले गये.

प्रधानमंत्री मोदी खुद भी इसी तरह की सीख अपने नेताओं मंत्रियो सांसदों और विधायको को देते है कि आप ये लाल बत्ती वाले कल्चर को छोडकर के आम लोगो की जिन्दगी जीना शुरू करिए तभी लोग आपको लम्बे समय तक सत्ता पर गद्दी पर बिठाए रखेंगे वरना ये तो सोशल मीडिया का जमाना है टाइम बदलते देर नही लगती है.

Facebook Comments