अनोखा उलटे हनुमान जी का मंदिर, रामायण के वक्त से है यही पर मौजूद

बजरंग बली हिन्दुओ में काफी माने जाने वाले देवता है और कही ना कही युवको के बीच तो वो एक सुपरहीरो की तरह देखे जाते है और कही न कही आपको हर जगह हर गाँव में हनुमान जी के मंदिर देखने को मिल ही जायेंगे लेकिन अभी हम आपको जिस मंदिर के बारे में बताने वाले है वो अपने आप में बेहद ही खास कहा जाता है और कही न कही हिन्दुओ की आस्था उनसे जुडी हुई भी है तो चलिए जानते है उलटे पाँव वाले हनुमान जी के मंदिर के बारे में भारत के सबसे पवित्र स्थलों में से एक शहर है उज्जैन जहाँ पर मंदिर ही मंदिर है और कही ना कही सभी लोग इन मंदिरों में आना जाना करते है वही उज्जैन से ही लगभग तीस किलोमीटर दूरी पर स्थित है उलटे हनुमान जी का मंदिर।

इस जगह को सांवेर के नाम से जाना जाता है और कहते है कि यहाँ पर आने वाले को बजरंग बली की विशेष कृपा की प्राप्ति हो जाती है यही पर ही रहने वाले लोग इस जगह को रामायणकाल की बताते है और कहते है इस मंदिर का अस्तित्व तब से अब तक मौजूद है कई बड़ी बड़ी घटनाएं आयी और कई विदेशी आक्रान्ता भी आये लेकिन कोई भी इस मंदिर का बाल भी बांका नही कर पाया।

इस जगह के बारे में बताया जाता है कि जब अहिरावण ने भगवान् श्री राम का अपहरण कर लिया था तो उस वक्त भगवान् राम को बचाने के लिए हनुमान जी ने इसी जगह से पाताल लोक में प्रवेश किया था और यही से ही वो दुबारा से रामजी को लेकर के यही से ही बाहर आये थे तब से ही इस जगह को पूजनीय माना गया और कहते है जो भी यहाँ इस मंदिर पर आता है वो हनुमान जी की कृपा से बलशाली हो जाता है।

दूर दूर से राजस्थान, गुजरात,मध्यप्रदेश और उत्तर प्रदेश तक से भी लोग उनके दर्शन करने के लिए आते है और कही ना कही इनका परचम भक्तो के बीच खूब लहराता है इस बात में कोई भी दो राय नही है।

Facebook Comments