इस जगह रावण को जलाया नही जाता, बल्कि मंदिर बनाकर उसकी पूजा की जाती है

रावण दहन आपने देखा होगा और हर जगह पर इस चीज की खूब ज्यादा चर्चा देखने में आती रही है क्योंकि दशहरा का पर्व अभी हाल ही में बीता है और लोग भारत में रावण का पुतला दहन करके बुराई पर अच्छाई की जीत के पर्व को बड़े ही धूमधाम के साथ में मनाते है. सब लोगो को ये चीज और ये रिवाज पसंद भी आता है क्योंकि बच्चो को भी ये पसंद आता है लेकिन क्या आप ये बात जानते है कि देश में कुछ ऐसी जगह भी है जहाँ पर बुराई के प्रतीक कहे जाने वाले रावण की पूजा की जाती है.

जी हाँ, ये मामला है मध्य प्रदेश के मंदसौर का यहाँ पर रावण को  बुरा नही माना जाता है और यहाँ पर लोग रावण की पूजा करते है. सुनकर के अजीब लगेगा लेकिन ये रावण की पत्नी मंदोदरी का मायका कई लोग मानते है और ख़ास तौर पर यहाँ के ब्राह्मण समाज के लोग पूजा करते है.

इसके अलावा एक और जगह है आंध्र प्रदेश का काकीनाड. यहाँ पर रहने वाले कई लोग है जो रावण को ही शक्ति संपन्न और अपना दाता मानते है. यहाँ पर बकायदा रावण का एक भव्य और बेमिसाल मंदिर भी बना हुआ है जिसके कारण यहाँ पर रावण की पूजा की जाती है और ये लोग भगवान् राम को कम और रावन को अधिक अपना आराध्य मानते है.

इसके अलावा भी कई देश में ऐसी छोटी मोटी जगहे मौजूद है जहाँ पर रावण की पूजा की जाती है और लोग उनको अच्छा खासा मानते भी है. कही न कही इस कारन से ही लोगो के दिलो में रावण के प्रति चाहे कोई भी भावना हो लेकिन उसके ज्ञान और उसके विद्वान् होने के कारण लोग आज भी है जो उसे महान मानते है और उसकी पूजा भी खूब अधिक जोर शोर के साथ में की जाती है.

Facebook Comments