सबसे शातिर चोर जिसने दिन के उजालो में हजारो गाड़ियाँ चुरायी, नकली जज बनकर पुलिस को धोखा देता रहा

आपने अपने आस पास में कई तरह के चोर देखे होंगे और कई तरह के चोरो को पुलिस के द्वारा पकडे जाते हुए भी देखा ही होगा आखिर पुलिस का काम ही चोरो को पकड़ना होता है मगर क्या हो अगर चोर इतना शातिर हो कि वो सबके सामने हो और उसे कोई पहचान ही न पाए तो? आज हम आपको एक ऐसे ही व्यक्ति के बारे में बताने जारहे है जिसके बारे में जानकर के आप खुद अपना ही सर चकराते हुए महसूस करने लगेंगे.

हम बात कर रहे है धनीराम मित्तल की जो भारत का सबसे शातिर चोर माना जाता है और चोरी करना उसका एक तरह से शौक सा हो गया है. धनीराम की उम्र अभी 80 साल हो गयी है और पहली बार वो 1964 में चोरी करते हुए पकड़ा गया था तब से अब तक धनीराम कई बार जेल जा चुका है लेकिन उसकी आदत नही छूटी.

धनीराम ने अब तक एक हजार से भी ज्यादा  गाड़ियां चोरी कर ली है और सबसे ख़ास बात ये है कि वो कभी चोरी रात में नही करता बल्कि दिन को ही करता है. धनीराम के कई किस्से है जो बड़े ही मशहूर है. एक बार धनीराम को कोर्ट में देखकर जज को गुस्सा आ गया और कहने लगे कि तुम बार बार आ जाते हो, बाहर जाकर के बैठो. धनीराम बाहर जाकर बोला जज साहब ने तो मुझे जाने के लिए बोला है और चला गया. जब जज ने उसे बुलवाया तो पुलिस वालो ने कहा कि उसने कहा आपने उसे जाने को कहा है और वो भाग गया.

एक बार का किस्सा है जब धनीराम ने चालाकी से ऊपर से आर्डर बनवाकर के सेशन जज को दो महीने तक छुट्टी पर भेज दिया और खुद कोर्ट में जज बनकर के आने लगा और इस दौरान धनीराम ने हजारो आरोपियो को जमानत पर रिहा कर दिया. ये चोर अभी 80 का हो चुका है और आखिरी बार 2016 में देखा गया था.

Facebook Comments