हर साल 8000 किलोमीटर तैरकर अपने इंसान दोस्त मिलने जाता है ये पेंग्विन

आपने अब तक जितनी भी दोस्ती की कहानियां आदि सुनी है वो दोस्ती से जुडी हुई ही सुनी होगी कि किस तरह से दोस्त लोग आपस में एक दुसरे के लिए क्या कुछ कर जाते है लेकिन अभी हम आपको जो बताने जा रहे है वो अपने आप में एक तरह से दिल को खुश कर देने वाली है और ये इंसान और अन्य जीव के बीच की करीबी को दोनों के बीच की दोस्ती को दर्शाने का कार्य करता है. यहाँ पर दो लोगो की दोस्ती है जो कि है एक पेंग्विन और एक बूढ़े आदमी की जो कि अपने आप में एक मिसाल कायम कर रहे है.

ये कहानी अभी की नही है बल्कि 2011 में शुरू हुई थी जब रियो डी जेनेरियो ब्राजील के रहने वाले परेरा डिसूजा को दक्षिणी अमेरिकी इलाके में मिलने वाली एक पेंग्विन मिली थी जो लगभग अधमरी हालत में ही थी. उन्होंने उसे उठाया उसकी सेवा की और उसे ठीक कर दिया.

अब जब वो ठीक करके उसे वापिस समंदर में छोड़ने गये तो उसने जाने से मना करना शुरू कर दिया और इशारे करने लगी मानो वो उसी के साथ में रहना चाहती है लेकिन परेरा ने उसे कहा कि उसके साथ वो सही जीवन व्यतीत नही कर सकती इसलिए वो चली जाये तो वो समंदर में गयी और वापिस अपने देश दक्षिण अमेरिका साइड चली गयी क्योंकि यहाँ के पानी में उसके लिए रहना मुश्किल होता है. अब कुछ टाइम बाद वो फिर से एक साल बाद वहाँ पर आ गयी और परेरा डिसूजा के नजदीक आकर के हिलने लगी.

परेरा डिसूजा हैरान हो गये कि वो फिर से आयी है और वो भी इतना दूर से. वो उसे बुलाते प्यार दुलार करते और फिर वो वापिस चली गयी. ऐसा साल में हर बार एक बार होता ही है जब ये पेंग्विन कई हजार किलोमीटर का सफ़र करके अपने दोस्त से मिलने के लिए आती है.

Facebook Comments