भारत की इस नदी में बहता है सोना, छान छानकर निकालते है लोग

सोना फ़िलहाल के वक्त में सबसे अधिक पोपुलर और बहुमूल्य धातु है जिसे पाने के लिए आपको अच्छी खासी मेहनत करनी पडती है या फिर कहे काफी सारा रूपया पैसा खर्च करना पड़ता है लेकिन असल मायने में अगर हम लोग देखे तो ये भी आता तो प्रकृति से ही है और इस वजह से इसे वहाँ से भी हासिल किया जा सकता है और ऐसा ही कुछ एक लोग वाकई में कर भी रहे है और ये बहुत ही ख़ास चीज है जो हम आपको बताने जा रहे है. आज हम आपको एक बड़ी ही ख़ास गोल्ड रिवर के बारे में बताने जा रहे है.

इस नदी का नाम ही स्वर्ण रेखा नदी है और ये झारखंड में मुख्य रूप से बहती है और इसका कुछ एक हिस्सा पश्चिम बंगाल साइड में भी पड़ता है. इसकी कुल लम्बाई की बात अगर हम करे तो ये पूरे 474 किलोमीटर लम्बी है और ये नदी सोने के लिए जानी जाती है.

इस नदी में कई जगहों पर अक्सर सोने के कण मिलते है और इस वजह से यहाँ पर रहने वाले आस पास के आदिवासी जनजाति के लोग इसमें से सोना छान छानकर के निकालते रहते है. हालांकि ये बहुत ही बड़ी मात्रा में नही होता है लेकिन फिर भी एक सही रकम प्राप्त करने के लिए एक सही मात्रा में सोना होता है और इसे निकालकर के फिर ये आस पास के सुनारों को इसे बेच देते है.

अब सवाल तो आज भी यही है कि आखिर नदी में इतना सोना आता कहाँ से है क्या यहाँ पर आस पास में या फिर नीचे की तरफ में कोई सोने की खदान है जिसमे से टूट टूटकर के ये निकल रहा है और अगर ऐसा कुछ होता है तो फिर ये अपने आप में बहुत ही ख़ास हो सकता है क्योंकि ये बड़ा ही ख़ास है.

Facebook Comments